मधनिषेध कार्यालय पर होती है शराब पार्टी, शराबबंदी की पोल खोलता यह खबर

अनुमंडल नगर स्थित बजार स्थित मधनिषेध कार्यालय के हाजत में शराब पीते पांच शराबी सहित दो हाजत गार्ड गिरफ्तार|स्थानीय बाजार के बन्दरा बगीचा स्थित मद्ध निषेध बिभाग का कार्यालय मैखाना बन चुकी है। जहां पदाधिकारियो व कर्मियों की मिलीभगत से शराब पार्टी चलती है। जिसका खुलासा तब हुआ जब मंगलवार की देर रात पालीगंज एएसपी व इंस्पेक्टर ने मद्ध निषेध बिभाग के कार्यालय में छापेमारी कर शराब पीते पांच शराबियों सहित हाजत की रखवाली में तैनात दो गार्डों को गिरफ्तार कर लिया।

जानकारी के अनुसार मंगलवार को मद्ध निषेध बिभाग के अधिकारियों ने अलग अलग स्थानों ने पांच शराबियों को गिरफ्तार कर कार्यालय लायी थी। जिसे हाजत में बन्द कर दो गार्डों को देखरेख में तैनात कर दिया। उसी हाजत में अधिकारियों, गार्डों व कर्मियों के मिलीभगत से सभी शराबियों ने मंगलवार की रात शराब मंगवाकर पीने लगा। जिसकी विडियो बनाकर किसी ने पुलिस बिभाग के आला अधिकारियों को भेज दिया। जिनके द्वारा दिये गए निर्देशानुसार पालीगंज एएसपी अवधेश सरोज दीक्षित व पालीगंज इंस्पेक्टर विजय कुमार गुप्ता रात्रि को ही मद्ध निषेध के कार्यालय पहुंचे। जहां का नजारा देख आश्चर्यचकित रह गए। वहां हाजत में ही शराब पार्टी में शराब पीते सभी पांचों शराबियों सहित हाजत की देखरेख में तैनात दो गार्डों को गिरफ्तार कर लिया। जिसकी पहचान बिक्रम बाजार स्थित करसा रोड निवासी सत्यनारायण जयशवाल के पुत्र कुंदन कुमार, बिक्रम स्थित काली स्थान रोड निवासी नगीना चौधरी के पुत्र चंदन कुमार, बिक्रम थाना क्षेत्र के अख्तियारपुर गांव निवासी भिखारी मांझी के पुत्र रामजी मांझी, बिक्रम थाना क्षेत्र के मंझौली गांव निवासी जवाहर मांझी के पुत्र संजय मांझी व दुल्हिन बाजार थाना क्षेत्र के लाला भदसारा गांव निवासी शाहबुद्दीन अंसारी के पुत्र शहंशाह अंसारी के रूप में हुआ। जबकि हाजत की देखरेख में तैनात गिरफ्तार गार्डों की पहचान छोटेलाल मंडल व सियाराम मंडल के रूप में हुआ।
गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए प्रेस विज्ञप्ति जारी कर पालीगंज एएसपी अवधेश सरोज दीक्षित ने बताया कि मौके से स्मार्ट फोन, एक प्लास्टिक के बोतल में 250 एमएल देशी शराब, प्लास्टिक पॉलीथिन में पांच लीटर महुआ शराब व हरे रंग के स्प्राइट बोतल में थोड़ी सी महुआ शराब बरामद हुआ है

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?