मुजफ्फरपुर में मौत का तांडव, अपराधियों ने एक साथ तीन मर्डर को दिया अंजाम, आशुतोष शाही के दूसरे बॉडीगार्ड की इलाज के दौरान मौत

मुजफ्फरपुर में ट्रिपल मर्डर पर बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर बड़ा हमला किया है। उन्होंने कहा है कि सीएम कुर्सी बचाने में लगे हैं और अपराधी लाशों का अंबार लगा रहे हैं। शुक्रवार की रात मुजफ्फरपुर शहर में प्रॉपर्टी डीलर आशुतोष शाही और उनके दो बॉडीगार्ड को अत्याधुनिक हथियार से भून दिया गया। प्रॉपर्टी डीलर एक बॉडीगार्ड ने मौके पर ही दम तोड़ दिया जबकि एक दूसरे बॉडीगार्ड की मौत इलाज के दौरान हो गई। अपराधियों ने घर में घुसकर 5 लोगों को गोली मार दी थी।

शनिवार को नेता प्रतिपक्ष मुजफ्फरपुर पहुंचे। उन्होंने मृतक प्रॉपर्टी डीलर और बॉडीगार्ड के परिवारों से मुलाकात की। उसके बाद मीडिया को संबोधित किया। विजय सिन्हा ने कहा कि अगर सरकार चाहती है कि इस जघन्य वारदात के शिकार परिवारों को न्याय मिले तो अविलंब सीबीआई से जांच कराई जाए। क्योंकि परिजनों को बिहार पुलिस पर कोई भरोसा नहीं है। उन्होंने चेतावनी दी कि बिहार में हत्या का सिलसिला नहीं रुका तो लोगों के सहयोग से एक बड़ा जन आंदोलन खड़ा किया जाएगा क्योंकि सरकार की करनी और कथनी में कोई एकरूपता नहीं है। कुर्सी बचाने के लिए हर प्रकार के के समझौते किए जा रहे हैं।

विजय सिन्हा ने कहा कि आशुतोष शाही और उनके दो बॉडीगार्ड की हत्या सत्ता संरक्षित मर्डर है। पहले से जिसे धमकी दी जा रही हो उसे प्रशासन ने सुरक्षा नहीं दिया। एनडीए की सरकार ने उन्हें सुरक्षा के लिए बॉडीगार्ड दिया था लेकिन, महागठबंधन के साथ जुड़ जाने के बाद नीतीश सरकार ने उनसे सुरक्षा वापस ले लिया। बार-बार गुहार लगाने के बाद भी सुरक्षा नहीं दी गई। अपराधियों ने मैगजीन बदल बदल कर वकील के घर में बैठ 5 लोगों को गोली मार दी और पुलिस को पहुंचने में लेट हो गई।

नेता प्रतिपक्ष ने पूर्व में समीर कुमार हत्याकांड को भी याद किया और कहा कि इसी स्थान पर समीर कुमार को एके-47 से भून दिया गया। लेकिन उस इलाके में भी प्रशासन सचेत नहीं है। यहां व्यवसाई वर्ग को खासतौर पर टारगेट किया जा रहा है लेकिन सरकार के इशारे पर प्रशासन ईमानदारी से काम नहीं कर रही है। उन्होंने इससे पहले साहनी हत्या कांड का हवाला दिया और कहा कि एफआईआर दर्ज कराने में भी पीड़ित परिवार के पसीने छूट गए।

विजय सिन्हा ने कहा कि पूरे बिहार में लाशों का ढेर लगाया जा रहा है। महागठबंधन सरकार बनने के बाद बिहार में अपराधियों को सत्ता का संरक्षण मिला है। इसी का नतीजा है कि अपराधियों का मनोबल बढ़ा हुआ है। उन्होंने मांग की है कि आशुतोष शाही और उनके दो बॉडीगार्ड की एक साथ बर्बर हत्या की सीबीआई जांच कराई जाए क्योंकि बिहार पुलिस परिवार को न्याय नहीं दे पाएगी।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?