खुद को ब्राह्मण बताकर मुस्लिम युवक ने किया सास – बहू का रेप, चैनल का संपादक बनकर किराए पर लिया था मकान, जानें पूरा मामला 

खुद को ब्राह्मण बताकर मुस्लिम युवक ने रचा बड़ा खेल, चैनल का संपादक बनकर किराए पर लिया मकान, जाने पूरा मामला

अगर आप भी अपना कमरा किराए पर देने की सोच रहे हैं तो जरा इस खबर को एक बार ध्यान से पढ़िए।

यह मामला मोतिहारी जिले के छतौनी थाना का हैं। जहां एक मुस्लिम युवक ने खुद को ब्राह्मण बताकर न्यूज़ पोर्टल के ऑफिस के लिए एक कमरा किराए पर लिया। फिर उस मकान के मालिक इन और उसकी बहू को झांसे में लेकर उनके साथ फिजिकल रिलेशन भी बनाए। इतना ही नहीं उसने दोनों के गंदे फोटो और वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करने लगा।

खुद को एक न्यूज़ पोर्टल का संपादक बताता था। पुलिस को इस मामले की जानकारी तब मिली जब छावनी थाना में सास बहू ने रेप की शिकायत की। शिकायत के बाद पुलिस ने रविवार को आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

सास ने छतौनी थाना में आवेदन दिया है कि निशांत राज नाम का एक युवक जो अपने आपको पंडित जाति का पता कर मुझसे एक रूम मीडिया ऑफिस के नाम पर किराए पर लिया।

फिर उसने मुझे अपने झांसे में लेकर संबंध बनाएं और फिर मेरी विधवा बहू के साथ भी संबंध बनाने लगा। उसमें हम दोनों के वीडियो बनाएं और ब्लैकमेल करने लगा।

 

मामले का पूरा खुलासा मकान मालकिन के छोटे बेटे ने किया। छोटा बेटा एयरफोर्स में नौकरी करता है और 15 दिन पहले ही अपने घर लौटा था। बेटे को शक तब हुआ जब उस युवक का घर में बार बार आना जाना लगा रहता था। जब उसने यह बात अपनी मां से कहीं तो मां ने कुछ नहीं बताया।

अगले दिन मां को छावनी थाने से कॉल आया और बताया कि बेटे ने आवेदन दिया है। बोलो थाने नहीं पहुंचे। अगले दिन 22 मई को 11:00 बजे वह थाने पहुंचे। मीडिया कर्मी भी साथी थाने में आया। पुलिस के सामने भीम मीडिया होने का धौंस दिखाने लगा। पुलिस ने सभी को शांत कराकर घर भेज दिया।

जब बेटे ने पता लगाने की कोशिश की तब जाकर पता चला कि युवक पंडित नहीं बल्कि मुस्लिम समुदाय से संबंध रखता है। और उसने परिवार वाले कुछ ऐसे मिले कर उसके साथ गलत काम किया है। बता दें कि अपने आप को निशांत राज बताने वाला युवक का असली नाम निशात रेजा है। यूट्यूब चैनल तरंग मीडिया का खुद को संपादक बताकर लड़कियों को झांसे में लेता है फिर उन्हें प्यार के जाल में फंसा कर फिजिकल हो जाता है। फिर लड़कियों की आपत्तिजनक वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल करता है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है युवक के बैकग्राउंड की पूरी जांच की जा रही।

Leave a Comment

क्या वोटर कार्ड को आधार से जोड़ने का फैसला सही है?